आजादी के महत्व की कहानी पर निबंध हिंदी में | Azadi Ke Mahatva ki Kahani Pr Nibandh

आजादी के महत्व की कहानी पर निबंध हिंदी में | Azadi Ke Mahatva ki Kahani Pr Nibandh

हेलो फ्रेंड, इस पोस्ट “आजादी के महत्व की कहानी पर निबंध हिंदी में | Azadi Ke Mahatva ki Kahani Pr Nibandh” में, हम आजादी के महत्व की कहानी के बारे में निबंध के रूप में विस्तार से पढ़ेंगे। तो…

चलिए शुरू करते हैं…

आजादी के महत्व की कहानी पर निबंध हिंदी में | Azadi Ke Mahatva ki Kahani Pr Nibandh

आजादी की तारीखें आज आधी सदी पूरी कर आगे बढ़ चुकी है.

आजादी के दीवानों की कहानियां कितनों की जुबानी और कितनों की जिंदगानी बन चुकी है.

जैसा कि हम इस वर्ष आजादी के 75 साल का जश्न मना रहे हैं, लेकिन यह आजादी का महोत्सव मनाने का सौभाग्य हमें ऐसे ही प्राप्त नहीं हुआ है.

इस आजादी के लिए हमने बहुत बड़ी कीमत चुकाई है.

बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा है, तब जाकर हमें आजादी प्राप्त हुई है.

देश को आजादी तो मिली लेकिन बंटवारे का सामना करना पड़ा. बंटवारे के दौरान जो लोग अपना घर नहीं छोड़ना चाहते थे उनको भी मजबूरी में अपना घर छोड़कर कहीं और जाना पड़ा.

हमारे पुरखों ने अपनी कुर्बानी से अंग्रेजों से लड़कर आजादी को पाया था. उनके परिवारों के अनेक गुमनाम व्यक्तियों ने अपनी जान कुर्बान कर दी.

भारत की आजादी की कहानी भारत के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण प्रगति में से एक है.

हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, सभी धर्म ने साथ मिलकर पूरे भारत को आजादी दिलाई एवं साथ मिलकर स्वराज्य स्थापित कराया.

इस आजादी के संघर्ष में भारत माता के अनेक अमर सपूतों ने अपने प्राणों को न्यौछावर कर दिया.

भारत की आजादी के इतिहास में रौलट एक्ट, साइमन कमीशन, जलियांवाला बाग हत्याकांड जैसी बहुत सी घटनाएं हुई जिन्होंने भारत को आजादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

Read Also:

प्लास्टिक हटाओ पर्यावरण बचाओ निबंध हिंदी में In 500+ Words

ऑफलाइन माध्यम पर ऑनलाइन माध्यम का प्रभाव निबंध हिंदी में

हमारे कुछ स्वतंत्रता सेनानियों ने कितनी भी छोटी भूमिका निभाई हो वह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि वह उस समय आजादी के लिए लड़े थे.

अधिकतर स्वतंत्रता सेनानी देश की स्वतंत्रता यानी की आजादी के लिए बिना किसी प्रशिक्षण के युद्ध में भी गए और अपना सर्वोच्च देकर अंत में कई लोग खुद को बलिदान भी कर दिय.

अतः आजादी जो आज आजाद देश की तस्वीर है, जिसे शायद शब्दों के माध्यम से दिखाना या फिर व्याख्या करना बहुत ही कम होगा.

आजादी के 75 सालों में हमने क्या खोया और क्या पाया है, हर किसी की सोच इस बारे में मिले या ना मिले लेकिन इतना तय है कि आजादी का जश्न मनाने के लिए स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पूरे देश में एक जुनून सा छा जाता है.

जिसका उदाहरण आप गली के बच्चों से लेकर बड़ों तक में देख सकते हैं जिनके हाथों में तिरंगा जरूर दिखाई देता है.

अत: आज हमें जो हमारे पूर्वजों के द्वारा विरासत में मिली इस आजादी को ना सिर्फ मनाना है बल्कि हमारे पूर्वजों के विचार एवं सपनों के भारत को बनाना होगा.

एवं हमारे पूर्वजों ने हमारे भविष्य के लिए जो सपना देखा था उसको आज हमें स्वयं सिद्ध करना होगा.

तो आइए हम सब मिलकर अपने घर को, अपने गांव को, अपने समाज को, अपने देश को, नई तरक्की तक पहुंचाने में योगदान दें.

इस पोस्ट “आजादी के महत्व की कहानी पर निबंध हिंदी में | Azadi Ke Mahatva ki Kahani Pr Nibandh” को पढ़ने के लिए धन्यवाद.

Read Also:

Essay On Clean India Green India In Hindi In 250+ Words

Essay On Freedom Struggle Of India In Hindi In 500+ Words

Essay On Guru Tegh Bahadur Ji In Hindi In 500+ Words | गुरु तेग बहादुर जी पर निबंध हिंदी में

Leave a Comment