Essay On e-RUPI In Hindi In 500+ Words {Step by Step Guide}

Essay On e-RUPI In Hindi In 500+ Words {Step by Step Guide}

नमस्कार, दोस्तों इस पोस्ट “Essay On e-RUPI In Hindi In 500+ Words” में, हम e-Rupi पर एक दिलचस्प और साथ ही जानकारीपूर्ण निबंध के बारे में विस्तार से पढ़ेंगे। तो

चलिए शुरू करते हैं…

Essay On e-RUPI In Hindi In 500+ Words {Step by Step Guide}

आज भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं का सीधा एवं पूर्ण लाभ लोगों को मिल रहा है।

डिजिटल इंडिया हमारे प्रधान मंत्री के संकल्प और विकास मंत्र, सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास का मजबूत स्तंभ है।

डिजिटल इंडिया के समाधान और नवाचार लोगों के जीवन को बेहतर बनाने में लगातार योगदान दे रहे हैं।

आज भारत को डिजिटल रूप से सक्षम समाज के रूप में स्थापित करने में ऐसे कई प्लेटफॉर्म महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

हमारे देश के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि “न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन के सिद्धांत का पालन करते हुए, सरकार और लोगों के बीच, व्यवस्था और सुविधाओं के बीच, समस्याओं की खाई को कम करना समय की मांग है।

सेवा, और उनके बीच की समस्याओं को खत्म करने और आम लोगों की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए। और इसलिए डिजिटल इंडिया आम नागरिकों के लिए सुविधा और सशक्तिकरण का एक बहुत ही शक्तिशाली माध्यम है”।

देश के हर वर्ग, समाज के हर वर्ग ने बहुत ही कुशल, प्रभावी और किफायती तरीके से ऐसे कई प्रौद्योगिकी आधारित प्लेटफॉर्म को अपनाया है।

डिजिटल इंडिया के इस विजन को आगे बढ़ाने के लिए ई-रूपी को एक नई पहल के रूप में देखा जा रहा है। यह भारत के सबसे सफल भुगतान प्लेटफॉर्म भीम यूपीआई पर आधारित है।

Also Read:

Essay On e-RUPI In English In 500+ Words | e-RUPI Essay {Step by Step Guide}

Essay On 5G Technology (Fifth Generation Technology)

ई-रूपी एक आरबीआई-अनुमोदित प्रीपेड ई-वाउचर है जिसे एनपीसीआई द्वारा वित्तीय सेवा विभाग और बैंकों के सहयोग से विकसित किया गया है।

विशिष्ट सेवा भुगतान के लिए लाभार्थी को ई-रूपी जारी किया जाता है।

यह एक क्यूआर-कोड या एसएमएस-आधारित ई-वाउचर है जो लाभार्थी के मोबाइल पर भेजा जाता है।

इस कोड के जरिए सर्विस प्रोवाइडर के खाते में डायरेक्ट फंड ट्रांसफर किया जाता है।

सरकारी संस्थाएं, कॉरपोरेट या कोई भी सेवा प्रायोजक अपने सहयोगी बैंकों की मदद से ई-रुपी वाउचर जेनरेट कर सकते हैं। लाभार्थी सेवा प्रदाता केंद्र पर ई-रूपी के माध्यम से भुगतान कर सकते हैं।

सेवा प्रदाता केंद्र वाउचर के रूप में प्राप्त क्यूआर-कोड या एसएमएस को स्कैन करेगा।

लाभार्थी के सत्यापन के लिए लाभार्थी के मोबाइल नंबर पर एक कोड भेजा जाएगा। एक बार सत्यापन हो जाने के बाद, भुगतान की तुरंत पुष्टि हो जाएगी।

Benefits Of e-Rupi | Advantages Of e-Rupi | e-Rupi के लाभ

  • यह वाउचर कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस है।
  • इसे केवल एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • यह पूरी तरह से सुरक्षित और भरोसेमंद है।
  • लाभार्थियों की व्यक्तिगत जानकारी पूरी तरह से गोपनीय है।
  • ई-रूपी सेवाओं की लक्षित और लीक-प्रूफ डिलीवरी सुनिश्चित करता है।
  • ई-रूपी वितरण प्रणाली की सुविधा प्रदान करता है।
  • ई-रूपी सेवा वितरण प्रणाली में न्यूनतम प्रशासनिक लागत सुनिश्चित करता है।
  • सरकारी योजनाओं का लाभ आम लोगों तक पहुंचाने के लिए ई-रूपी एक क्रांतिकारी पहल है।
  • ई-रूपी का उपयोग सरकार द्वारा जनकल्याण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के लिए किया जाता है, जिसके तहत एक निश्चित उद्देश्य की पूर्ति के लिए
  • भुगतान/अनुदान दिया जाता है। इसे आसानी से लागू करने के लिए ई-रुपी का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • ई-रुपी का उपयोग निजी संगठनों या किसी व्यक्ति द्वारा किसी विशिष्ट उद्देश्य के लिए लोगों को लाभ देने के लिए भी किया जा सकता है।

इस दिशा में, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सहयोग से निगम द्वारा निजी कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र पर टीकाकरण के भुगतान हेतु e-Rupi की प्रथम उपयोगिता 2 अगस्त 2021 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू की गई।

Thanks For Reading “Essay On e-RUPI In Hindi In 500+ Words {Step by Step Guide}“.

Also Read:

Essay On e-RUPI In English In 500+ Words | e-RUPI Essay {Step by Step Guide}

Essay On Self-Reliant India Mission

Essay On Bank Privatisation Pros And Cons

Leave a Comment